गुरुवार, 12 अगस्त 2010

सोतेली माँ बेटी पर ढाया कहर

मुंबई के मालवनी इलाके में एक 14 साल की बच्ची पर उसकी सौतेली मां ने इस कदर जुर्म ढाया...कि बच्ची के हांथ- पांव तक जला डाले...इस 14 साल की बच्ची का नाम शगुफ्ता खान है...और उसके आंकों से बहनेवाली आंसू खुद उस पर हुये जुल्म की कहानी कहते है...।


ये आँखें है...14 साल की उसी शगुफ्ता खान की...जिस पर उसकी सौतेली मां ने इस कदर जुल्म ढाया कि ये मासूम बच्ची अब हंसना तक भूल गयी है....शगुफ्ता की आँखों से लेकर...गले...उसके हांथ...और पांव पर पड़े छाले उस पर हुये एक – एक जुल्म की कहानी और दिखाई देते ये दर्दनाक जख्म एक ऐसी कहानी कहते है...जिसे सुनकर एक मां का दिल दहल जायेगा...क्या आप सोच सकते है..कि एक सौतेली मां...अपने सौतेले बच्ची के साथ...इस कदर जुल्म कर सकती है...लेकिन ऐसा हुआ है....और मुंबई के माहिम इलाके में हुयी इस सनसनी खेज वारदात ने पुरी मुंबई का दिल दहला दिया है.....आप जरा गौर से सुनिया कि शगुफ्ता की सौतेली मां उस पर किस कदर जुल्म करने के लिये...शगुफ्ता पर कभी मोटे डंडे....तो कबी गर्म दूध...तो कभी.....गर्म दाल....तो कभी गर्म छुरा...तो कभी गर्म कूकर से उसे जला देती थी....और सुबह 9 बजे से लेकर रात 12 बजे तक एक बंद कमरे में इसे बंद कर देती ताकि.....शगुफ्ता अपना दर्द किसी को बता ना सके....।

शगुफ्ता पर हुये जुल्म की कहानी यही खत्म नहीं होती....जब कभी पास- पडोस वाले इस दर्द नाक केल को रोकतने की कोशिश करते तो...शगुफ्ता की सौतेली मां उन्हें भी गाली – गलौच कर भगा देती...और शगुफ्ता को इस कदर डराकर ऱका था...कि वो पुलिस में भी ना जा सके...एक बार तो शगुफ्ता को जलाने के बाद...किसी को इस बारे में पता ना चले...इसलिये एक डॉक्टर के पास शगुफ्ता को बुरका पहनाकर इलाज के लिये ले गये..और धमकी भी दी..कि वो इस बारे में किसी से कुछ कहे नहीं....।

 लगातार पिथले दो महीने से मुंबई के माहिम इलाके में शगुफ्ता पर इसी तरह उसकी सौतेली मां उस पर जुल्म ढाती रही...लेकिन जुल्म की इंतहा बढ़ते देख...एक दिन डर के मारे..पहले तो शगुफ्ता की सौतेली मां घर से फरार हो गयी...उसके बाद ये बच्ची किसी तरह मुंबई के मानवनी इलाके में अपनी दादी के पास रहने चली आयी...और अपने उपर हुये जुल्म की सारी दास्तान अपनी दादी को बता दी...दादी के मुकाबिक उसलके पिता का नाम शरीफ खान है..चो एक नंबर का छटा हुआ बदमाश है....जिसकी कई शिकायतें मालवनी पुलिस थाने में दर्ज है..अब दादी चाहती है..कि उसकी पोती पर हुये बेइंतहा जुल्म की उसके सौतेली मां और पिता को उसकी शकख्त से शख्त से सजा मिले...।

 14 साल की शगुफ्ता पर हुये उसके सौतेली मां के अत्याचार की दर्दनाक कहानी माहिम पुलिस थाने में बतौर शिकायत दर्ज करा दी गयी है...चुंकि बच्ची पर जुल्म ढाटे जाने का सिलसिला पिछले 2 महीनों से चल रहा था...इसलिये पुलिस अब मेडिकल रिपोर्ट कराने से हिचकिचा रही है....इसलिये पुलिस ने सलाह दी कि अब बच्ची को दादी के पास रखा जाये...।

  इस पुरे मामले में एक और बात खुलकर सामने आ रही है...कि जिस सौतेलवी मां ने अपनी सौतेली बेटी के साथ इतना दर्दनाक केल खेला है...उसकी माहिम इलाके में काफी ढौंस है...और शगुफ्ता के दादी के परिवारवालों से मिली जानकारी अनसार...इसकी सौतेली मां पेसे से चरस...गांजा और लड़कियों को सप्लाई करने के दंदे में बी इन्वॉल्व है...।

10 टिप्‍पणियां:

  1. ब्‍लागजगत पर आपका स्‍वागत है ।

    किसी भी तरह की तकनीकिक जानकारी के लिये अंतरजाल ब्‍लाग के स्‍वामी अंकुर जी, हिन्‍दी टेक ब्‍लाग के मालिक नवीन जी और ई गुरू राजीव जी से संपर्क करें ।

    ब्‍लाग जगत पर संस्‍कृत की कक्ष्‍या चल रही है ।

    आप भी सादर आमंत्रित हैं,
    http://sanskrit-jeevan.blogspot.com/ पर आकर हमारा मार्गदर्शन करें व अपने सुझाव दें, और अगर हमारा प्रयास पसंद आये तो हमारे फालोअर बनकर संस्‍कृत के प्रसार में अपना योगदान दें ।
    धन्‍यवाद

    उत्तर देंहटाएं
  2. यादव जी ऐसी माँ होने से तो नहोना ही अच्छा है|

    उत्तर देंहटाएं
  3. पहली baar aaya आपके यहाँ.लेकिन जिस तेवर से आप ने क्रूरता को ब्यान किया है.

    बहुत खूब !!
    दर्द के सन्दर्भ से जुडा ..एक और संवाद..

    आज़ादी की वर्षगांठ एक दर्द और गांठ का भी स्मरण कराती है ..आयें अवश्य पढ़ें
    विभाजन की ६३ वीं बरसी पर आर्तनाद :कलश से यूँ गुज़रकर जब अज़ान हैं पुकारती
    http://hamzabaan.blogspot.com/2010/08/blog-post_12.html

    उत्तर देंहटाएं
  4. बहुत खूब !! हिन्दी ब्लॉग जगत पर आपका स्वागत है

    उत्तर देंहटाएं
  5. इस टिप्पणी को लेखक द्वारा हटा दिया गया है.

    उत्तर देंहटाएं
  6. ब्लाग जगत की दुनिया में आपका स्वागत है। आप बहुत ही अच्छा लिख रहे है। इसी तरह लिखते रहिए और अपने ब्लॉग को आसमान की उचाईयों तक पहुचइये मेरी यही शुभकामनाएं है आपके साथ
    हमारे ब्लॉग पर आपका स्वागत है।
    http://sbhamboo.blogspot.com
    http://saayaorg.blogspot.com
    आपकी पोस्ट यहा इस लिंक पर भी पर भी उपलब्ध है। देखने के लिए क्लिक करें
    http://laxya.feedcluster.com/

    उत्तर देंहटाएं
  7. bhaoot hi marmik kahani ko aapne sabke samne rakha...
    swagatyogya kadam

    उत्तर देंहटाएं
  8. इस नए सुंदर चिट्ठे के साथ आपका ब्‍लॉग जगत में स्‍वागत है .. नियमित लेखन के लिए शुभकामनाएं !!

    उत्तर देंहटाएं